विदेश

DNA Analysis: पश्चिमी देशों में भी ‘सिर तन से जुदा गैंग’ सक्रिय, UK में हिंदुओं के सफाये की धमकी; मानवाधिकार संगठनों ने क्यों साध ली चुप्पी?


Hate Crime Against Hindus: हिंदुओं के खिलाफ पूरी दुनिया में घृणा का माहौल तैयार किया जा रहा है. पूरे विश्व का हिंदू समुदाय (Hindu Community), एक बड़ी साजिश के जाल में फंस रहा है. पिछले दिनों कई ऐसी घटनाएं हुई हैं, जिसमें हिंदू समुदाय के लोगों को टारगेट किया गया है. लेस्टर और बर्मिघम के मंदिरों पर कट्टर मुस्लिम युवकों की भीड़ ने जो हमला किया, वो सिर्फ इस साजिश का ट्रेलर था. दरअसल हिंदुओं पर कई देशों में हमले की खबरें सामने आ चुकी हैं.

लेस्टर, बर्मिंघम ही नहीं. आपको याद होगा अमेरिका के कैलिफोर्निया और टेक्सस में भी हिंदुओं के खिलाफ हेट क्राइम दिखा था. ऐसा लग रहा है कि जैसे किसी बड़ी प्लानिंग के तहत इस तरह की वारदात की जा रही हैं. लेस्टर और बर्मिंघम में मंदिरों पर हमला, एक सोची समझी रणनीति के तहत किया गया था. अब ब्रिटेन (UK) से आई एक धमकी पूरे विश्व के हिंदू समुदाय के गुस्से की वजह बन सकती है.

दुनियाभर के हिंदुओं को जान से मारने की धमकी

ब्रिटेन में एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें एक मुस्लिम व्यक्ति, दुनियाभर के हिंदू समुदाय (Hindu Community) को जान से मारने की धमकी दे रहा है. ये वीडियो जिस व्यक्ति का है, उसने लेस्टर की भी एक तस्वीर शेयर की है, जिसमें मुस्लिम समुदाय सड़क पर नजर आ रहा है. इसी ने एक और वीडियो भी जारी किया, जिसमें ब्रिटेन के हिंदुओं को जान से मारने की धमकी दी गई है.

लेस्टर में हिंदू मंदिर पर हमले की हिंसक वारदात के दौरान सैकड़ों कट्टर मुस्लिम युवकों की भीड़ ने इस्लामी नारे लगाते हुए हमला किया था. हिंदू धर्म के प्रतीक झंडे को फाड़कर जला दिया गया था और ये सब पुलिस के सामने हुआ.

लेस्टर में हुई हिंदू (Hindu Community) विरोधी हिंसा, अफवाह के बाद फैली थी जिसमें कहा गया कि एक मस्जिद पर अटैक किया गया था. ये अफवाह पुलिस जांच में झूठी पाई गई थी. लेकिन हिंदुओं को टारगेट करने के लिए अफवाह सिर्फ बहाना थी. असल में ब्रिटेन (UK) में हमलावर ही पीड़ित बनने का ढोंग करते हैं. ब्रिटेन में मौजूद कट्टर मुस्लिम संगठनों के लोगों ने हिंदू मंदिरों पर अटैक किया और इसके बाद उनके ही समर्थक लंदन में भारतीय उच्चायोग के बाहर प्रदर्शन करते नजर आए. लेस्टर में मंदिर पर हुए हमले के बाद जब हमलावरों का विरोध शुरू हुआ तो उनके साथियों ने भारतीय उच्चायोग के आगे इसी तरह से प्रदर्शन किया.

इन 3 देशों में हिंदुओं के खिलाफ बढ़े हमले

पिछले दो महीनों में अमेरिका में भी ऐसी घटनाएं हुई हैं, जिससे यही लगता है कि हिंदुओं के खिलाफ हेट क्राइम के मामले लगातार बढ़ रहे है. कैलिफोर्निया के एक रेस्टोरेंट का ये वीडियो आपने देखा होगा. सोशल मीडिया पर ये वीडियो काफी वायरल हुआ था. इसमें एक व्यक्ति, हिंदुओं के खिलाफ अपशब्द कहता हुआ नजर आया था. इस पूरे वीडियो में उसने कई बार हिंदु समुदाय को कोसा था.

इसी तरह से एक वीडियो टेक्सस से सामने आया था. इस वीडियो में भी एक महिला ने हिंदू समुदाय से ताल्लुक रखने वाली महिला को अपशब्द कहे थे. उसने भारतीय होने और हिंदू होने पर नस्लवादी टिप्पणी की थी. हलांकि इस मामले में पुलिस ने कड़ी कार्रवाई की थी.

हिंदुओं (Hindu Community) के खिलाफ बढ़ रहे हमलों पर अमेरिका के एक रिसर्च  इंस्टीटूयट ने शोध किया. इस शोध में पता चला कि दुनियाभर में हिंदुओं को लेकर हेट क्राइम करीब 1000 प्रतिशत तक बढ़ा है. नेटवर्क कंटेजियन रिसर्च इंस्टीट्यूट ने अपनी रिसर्च में पाया कि हिंदू विरोधी हमलों में 1000 प्रतिशत तक बढ़ोतरी हुई है. इन हमलों में नस्लवादी टिप्पणियां हिंदू प्रतीकों पर हमले और शारीरिक हमले शामिल हैं. शोध के मुताबिक हिंदू समुदाय के खिलाफ माहौल तैयार करने में मुस्लिम और गोरे लोगों को सर्वोच्च मानने वाले लोग शामिल हैं.

कट्टर मुस्लिम और खालिस्तानी आतंकी शामिल
 
इस रिसर्च और हाल फिलहाल हो रही घटनाओं से ये साफ है कि पूरी दुनिया में हिंदू समुदाय को टारगेट किया जा रहा है. कई मामलों में कट्टर मुस्लिम हैं तो कुछ मामलों में खालिस्तानी आतंकी भी हैं. अमेरिका, कनाडा और इंग्लैड में हिंदू समुदाय और प्रतीकों पर हो रहे हमलों को लेकर  भारत सरकार भी गंभीर है. खासतौर से लेस्टर और बर्मिंघम में हुई घटना पर भारत ने सख्त कार्रवाई करने की अपील की है.

इंग्लैंड ही नहीं, कनाडा में हिंदू समुदाय (Hindu Community) के खिलाफ खालिस्तान आतंकियों का जहर देखने को मिला था. टोरंटो के स्वामी नारायण मंदिर में खालिस्तानी आतंकियों ने हमला किया था. उन्होंने मंदिर की दीवारों को खराब किया और भारत विरोधी नारे लिखे थे. इस घटना के खिलाफ कनाडा के हिंदू समुदाय में काफी आक्रोश था. घटना के बाद भारतीय उच्चायोग ने कनाडा से कार्रवाई की अपील भी की थी.

भारत के खिलाफ पाकिस्तान रच रहा साजिश

कनाडा में खालिस्तानी आतंकी कितने सक्रिय हैं, इसका पता इसी से चलता है कि 19 सितंबर को कनाडा के ओन्टारियो में खालिस्तानी संगठन सिख फॉर जस्टिस ने एक जनमत संग्रह करवाया था. जिसको भारत के दबाव में कनाडा सरकार ने मान्यता नहीं दी. इसी दिन ‘सरे’ शहर के एक गुरुद्वारे में एक खास मीटिंग हुई थी. इस मीटिंग में खालिस्तानी समर्थक नेताओं के साथ पाकिस्तानी राजनयिक जांबाज खान नजर आए थे. सरे ही नहीं, वैंकुवर शहर में भी उन्होंने खालिस्तानी समर्थकों से मुलाकात की थी.

जांबाज खान, कनाडा के दो गुरुद्वारों में गए थे. ये गुरुद्वारे खालिस्तानी समर्थकों के द्वारा चलाए जाते हैं. इसमें से एक गुरुद्वारे का प्रबंधक हरदीप सिंह निज्जर है. हरदीप सिंह निज्जर पर NIA ने 10 लाख रुपये का इनाम रखा हुआ है. हरदीप सिंह निज्जर पर NIA के 4 मामले दर्ज हैं, जिसमें से एक मामला पंजाब के फिल्लौर में हिंदू पुजारी की हत्या का भी है. जांबाज खान की मौजूदगी, कनाडा में हिंदू मंदिरों पर हुए हमले के पीछे पाकिस्तानी साजिश की झलक है. इंग्लैड और कनाडा, दोनों देशों में हो रही हिंदू विरोधी हिंसा के तार पाकिस्तान से जुड़ते नजर आ रहे हैं.

(ये ख़बर आपने पढ़ी देश की नंबर 1 हिंदी वेबसाइट Zeenews.com/Hindi पर)





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.